शारीरिक शिक्षा क्या है? ओर उसका महत्व हिन्दी मे

शारीरिक शिक्षा क्या है? Physical education

अपने शरीर ओर दिमाग को स्वस्थ रखने के शिक्षण को शारीरिक शिक्षा (sharirik shiksha) physical education कहते है। जिसमे योग, प्राणायम, कसरत ओर ध्यान जैसी क्रियाओ का समावेश होता है।

Sharirik shiksha शारीरिक शिक्षा क्या है
Sharirik siksha शारीरिक शिक्षा

हमारे देश मे योग गुरु के नाम से प्रख्यात रामदेव जी ने योग के बारेमे tv के माध्यम से बहुत प्रचार किया है जिसमे कई तरह के आसन ओर प्राणायम का समावेश होता है।

हर शिक्षा का अपना अपना मह्त्व होता है वैसे ही शारीरिक शिक्षा का भी अपना मह्त्व है। जिसकी जरूरत इन्सान को बचपन से होती है। sharirik siksha के जरिये वह अपने body ओर mind दोनो का विकाश कर सकता है।

शारीरिक शिक्षा का मह्त्व (Importance of physical education)

आज कल के जमाने के लोग भाग दौड मे बहुत व्यस्त रहते है। उन्हे ये भी मालुम नही होता है की उनके शरीर की क्या हालत है। क्यु की पैसे कमाने के चक्कर मे वे लोग शरीर पर ध्यान नही देते।

क्यु की बचपन से ही उन्हे शारीरिक योग ओर कसरत की सिक्षा नही दि गई जैसे की इन्सान को चाय पीने की, पूजा करने की आदत होती है वैसे ही योग ओर ध्यान कर ने की भी आदत होनी जरूरी है।

शारीरिक सिक्षा के माध्यम से शरीर को कैसे maintain रखे? थके हूए दिमाग को कैसे आराम दे जैसी सिख मिलती है। Physical education का मह्त्व जीतना माने उतना कम है।

विकाशशील जमाने के साथ साथ खाने मे पौश्क्तातत्व नही रहे। रोग प्रतिकारक सक्ती कम होने लगी है। ओर अलग अलग प्रकार के रोग होने की संभावनाए बढने लगी है। ऐसे मे हमे शारीरिक व्यायाम ओर योग का सहारा लेना चाहिये।

इसलिये बच्चो के लिये शारीरक शिक्षा बहुत ही मह्त्व रखती है। क्यु की शारीरिक सिक्षा एक मजबुत शरीर ओर शान्त दिमाग बना सक्ती है। अब तो हर देश ओर दुनिया ने योग ओर प्राणायम को स्वीकारा है।

Sharirik siksha कैसे प्राप्त करे (How to get physical edication)

Sharirik shiksha

भारत के तमाम school मे शारीरिक शिक्षा का ज्ञान दिया जाता है ओर उन्हे नये नये कसरत, खेल कुद सीखाया जाता है। इसके अलावा भी कई सारे शिबिर है जहा से हम physical education ग्रहण कर सकते है।

शारीरिक शिक्षा के related books खरीदकर भी हम शारीरिक शिक्षा का ज्ञान ग्रहण कर सकते है। TV ओर Youtube के माध्यम से शारीरिक शिक्षा लेना बहुत आसान हो गया है।

शारीरिक शिक्षा आप घर बैठे भी बड़ी आसानी से ग्रहण कर सकते है। इसलिए आपकी कुछ हेल्प हो सके ऐसे उपयोगी आसन और ध्यान के बारेमे जानकरी देता हु।

ताड़ासन

शारीरिक शिक्षा sharirik shiksha

दोस्तों यह एक ऐसा आसन है जिसके माध्यम से आप अपने शरीर की लम्बाई को बढ़ा सकते हो। ताड़ासन का मतलब ही ताड के पेड़ जैसे लम्बाई बढ़ाना ऐसा होता है।

ताड़ासन करना बहुत आसान है। आप इसे दिन में सुबह उठकर 5 मिनिट करने से बहुत ही अच्छा लाभ प्राप्त कर सकते हो। ताड़ासन में हमे अपने सरीर को आकाश की तरफ खींचना होता है। दोनों हाथ को ऊपर करके गहरा श्वाश लेकर शरीर को ऊपर तक खींचे और स्वाश को रोक कर रखे। श्वाश छोड़ने के साथ अपने हाथो को निचे करके ताड़ासन पूर्ण कर दे।

ध्यान

शारीरिक शिक्षा

हर किसी के जीवन में ध्यान करना चाहिए। क्यों की यह बहुत ही महत्वपूर्ण है। ध्यान के फायदे बहुत ज्यादा है। ध्यान के माध्यम से आप अपनेलक्ष्य प्राप्ति जल्दी कर सकते है। क्यों की ध्यान हमे एकाग्र होने की शक्ति देता है। हमारे दिमाग को स्वस्थ रखता है।

आसन की सापेक्ष में ध्यान करना बहुत कठिन है। क्यों की दोस्तों ध्यान में हमे अपने मन को शांत और एकाग्र करना होता है। इसलिए आपको दिन के लिए ज्यादा समय देना होगा। में आपको कुछ आसान तरीका बताता हु जिसके माध्यम से आपको ध्यान करने में आसानी रहेगी और अच्छे से शारीरक शिक्षा प्राप्त होगी।

सबसे पहले आप कोई अच्छा सुध्ध और शांत स्थान पसंद करले। और अच्छे आसन पर बैठ जाय। अब अपने सामने किसी भी एक बिंदु को चयन करे। जैसे की आपके सामने कोई पेड़ है तो उसपे अपनी आँखों के समान्तर कोई काला बिंदु लगा दे छोटा सा।

अब उस बिंदु को अपने अपनी आँखों से ध्यान मुद्रा में बैठकर देखे। और धीरे धीरे उस बिंदु को देखते देखते आँखे बंद करले। इस तरह रोजाना अपने मन को एकाग्र करने की कोशिश करे। आप बिंदु की जगह पर ॐ को अपने दिमाग में ले। और उसमे ध्यान केंद्रित करे। ताकि ध्यान केंद्रित करने में बड़ी आसानी रहेगी।

दोस्तों इस तरह के आसन और ध्यान कर के आप घर बैठे शारीरिक शिक्षा प्राप्त कर सकते है। शारीरिक शिक्षा के माध्यम से आप शरीर और मन दोनों का विकाश कर सकते है।

शारीरिक शिक्षा के फायदे (Benefits of physical education)

  • शारीरक शिक्षा से एक मजबुत ओर स्वस्थ शरीर बनता है। इस शिक्षा के माध्यम से विचारमग्न दिमाग को शान्त कर सकते है। Physical education से आकर्षक body बनती है।
  • ध्यान करने के यादाश सक्ती मे बढावा होता है। जिसकी विध्यार्थियो को बहुत जरूरत है।
  • स्फूर्ति, विचारो मुक्त दिमाग, ओर काम करने मे योग से स्फूर्ति आती हैं।

निष्कर्ष

दोस्तो शारीरिक शिक्षा क्या है ओर उसका क्या मह्त्व है वो पुरी जानकारी देने की मेने कोशिष की है। short मे इतना ही कहना चाहूँगा की sharirik siksha लेने की जरुर कोशिष करे। भाग दौड के जमाने के योग व्यायाम करना थोडा कठिन काम है। लेकिन रोजाना करने से आपको आदत लग जायगी। आपने बच्चो को भी physical education के मह्त्व के बारेमे जरुर समजाए।

हमारे ये पोस्ट जरुर पढे

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *