लिपि किसे कहते हैं और लिपि की परिभाषा

Lipi Kise Kahate Hain

Lipi Kise Kahate Hain : लिपि एक भाषा के रिलेटेड टॉपिक है। आज यहां आप लिपि के बारेमे संपुर्ण जानने वाले है की लिपि किसे कहते है, लिपि की परिभाषा क्या हैं और भी बोहत कुछ।

lipi kise kahate hain

सामान्य शब्दों में लिपि के बारेमे समझते है तो हम जो भाषा बोलते है उसको लिखने के ढंग को लिपि कहते है। आप जिस तरह बोल रहे उसकी कुछ भावनाये आप कुछ चिह्न लगाकर कहा पर भी लिख रहे है, अपनी ध्वनि को लेखिन प्रकाशित कर रहे है तो उसे लिपि कहते है।

लिपि की परिभाषा

वैसे तो लिपि की व्याख्या और परिभाषा एक ही है लेकिन हम यहाँ परिभाषा के नाम पर थोड़ा और समज लेते है।

“अपनी भाषा की ध्वनि को लिखने के लिए जिन चिह्नों का उपयोग करते है उसे लिपि कहते है। “

एक ही लिपि का उपयोग एक से ज्यादा भाषा को लिखने के लिए किया जा सकता है। भाषा की ध्वनि उनके बोलने का ढंग अलग हो सकता है लेकिन उसे किसी एक लिपि में लिखा जा सकता है। कोई भी भाषा किसी एक लिपि पर निर्भर नहीं है। उसे किसी अन्य लिपि में भी लिखा जा सकता है।

यह भी पढ़े

लिपि के प्रकार

लिपि के तीन प्रकार कुछ इस तरह है

  • चित्रलिपि
  • अल्फबेटिक लिपि
  • अल्फासिलैबिक लिपि

चित्रलिपि

पुराने समय में लोग सन्देश प्रकाशित करने के लिए आज के समय के जैसे किसी अक्षर का उपयोग न करके किसी वस्तु या क्रिया के चित्र का उपयोग करते थे।

चित्रलिपि की कुछ प्रख्यात लिपिया निचे मुजब है।

  • प्राचीन मिस्र लिपि– प्राचीन मिस्त्री
  • कांजी लिपि– जापानी
  • चीनी लिपि– चीनी

अल्फाबेटिक लिपि

इस लिपि में व्यजन के बाद स्वर अपने पुरे अक्षर का रूप लेते है। इस लिपि का मुख्य उदाहरण अंग्रेजी है। अंग्रेजी में a,i,o,u,e स्वर है जब की हिंदी में अ, आ, ई, उ… स्वर है। अब देखिये इंग्लिश अल्फबेटिक लिपि में Mukesh कुछ इस तरह लिखा जाता है इसमें U और E स्वर है जो पूर्ण अक्षर में है। जब की हिंदी में मुकेश कुछ इस तरह लिखा जाता है इसमें उ और इ पूर्ण अक्षर में नहीं है बल्कि अपने आधे रूप ु और ी में है।

अब समज गए होंगे की अल्फाबेटिक लिपि में स्वर को व्यंजन के बाद पूर्ण अक्षर में लिखा जाता है।

अल्फाबेटिक लिपि के कुछ प्रख्यात भाषाएँ

  • सिरिलिक लिपि- रूसी, सवीयत संघ की बहुत सारे भाषाएँ
  • लैटिन लिपि- अंग्रेजी, जर्मन, फांसीसी, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, पश्चिमी और मध्य यूरोप की सारी भाषाएँ।
  • अरबी लिपि– आरबी, कश्मीरी, फ़ारसी, उर्दू
  • इब्रानी लिपि– इब्रानी
  • यूनानी लिपि– यूनानी और थोड़े गणित के चिन्ह

अल्फासिलैबिक लिपि

इस लिपि में अगर किसी भी इकाई में व्यंजन नहीं होता तो स्वर का पूरा चिन्ह लिखा जाता है। अल्फासिलैबिक लिपि में हर एक इकाई में अगर एक या अधिक व्यंजन होता है, तो उस पर स्वर की मात्रा का चिन्ह लगाया जाता है।

अल्फासिलैबिक लिपि के कुछ प्रकार और भाषाएँ

  • देवनागरी लिपि– हिंदी, संस्कृत, खड़िया, मराठी, कोंकणी, नेपाली
  • गुरमुखी लिपि– पंजाबी
  • तमिल लिपि– तमिल
  • गुजराती लिपि– गुजराती
  • बंगाली लिपि– बांग्ला
  • ब्राझि लिपि– कन्नड़, प्राचीन काल में संस्कृत और पाली
  • कानो लिपि– जापानी

ब्रेल लिपि क्या हैं

ब्रेल लिपि भी एक लिपि का ही प्रकार है, बाकि सब लीपीओ के शोध किसने की वह हम नहीं कह सकते लेकिन इस भाषा की शोध लुइस ब्रेल ने की ऐसा कहा जाता है उनके नाम पर इस लिपि का नाम ब्रेल लिपि रखा गया।

ब्रेल लिपि एक ऐसी लिपि है, जो नेत्रहीन (जिन्हे दिखाई नहीं देता) लोगों के पड़ने और लिखने के लिए है, जो 6 डॉट्स और उभरे हुए बिंदु पर आधारित है। इस लिपि के एक डॉट्स की ऊंचाई लगभग 0.02 इंच की होती है। इसमें 64 अक्षर होते हैं और प्रत्येक आयताकार सेल में 6 उभरे हुए बिंदु 2 पंक्तियों में दिए गए होते हैं।

भारत की 22 भाषाएँ और लिपि

भारत की मुख्य 22 भाषाएँ और उनकी लिपि निचे मुजब है।

भाषा का नामलिपि का नाम
हिंदीदेवनागिरी
सिंधीदेवनागिरी/फ़ारसी
पंजाबीगुरुमुखी
कश्मीरीफ़ारसी
गुजरातीगुजराती
मराठीदेवनागिरी
उड़ियाउड़िया
बांग्लाबांग्ला
असमियाअसमिया
उर्दूफ़ारसी
तमिलब्राह्मी
तेलुगुब्राह्मी
मलयालमब्राह्मी
कन्नड़कन्नड़/ब्राह्मी
कोकड़ीदेवनागिरी
संस्कृतदेवनागिरी
नेपालीदेवनागिरी
संथालीदेवनागिरी
डोंगरीदेवनागिरी
मणिपुरीमणिपुरी
वोडोंदेवनागिरी
मैथिलीदेवनागिरी/मैथिली

Conclusion

Lipi kise kahate hai और लिपि की परिभाषा को आपने समझा है। भाषा की ध्वनि को दर्शाने के लिए जिस चिह्नों का उपयोग किया जाता है उसे लिपि कहते है। भाषा का किसी ने अविष्कार नहीं किया है वह सदीओ से बदलती जाती है, जैसे की पहले संस्कृत बोली और लिखी जाती थी लेकिन अब उसका महत्व बहुत कम हो गया है। इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

यह भी पढ़े

Similar Posts

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments