ITI Electrician Course क्या है योग्यता, अवधि और करियर

ITI Electrician Course Kya Hai

ITI Electrician Course Kya Hai In Hindi :10 वीं और 12 वीं के बाद कई छात्र डिप्लोमा और आईटीआई कोर्स करना चाहते हैं। 10 वीं और 12 वीं के बाद कई आईटीआई Courses हैं। उन में से ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स ज्यादा फेमस है। कम अवधि का यह कोर्स कर के आप अच्छी जॉब प्राप्त कर सकते है।

ItI electrician kya hai

हर कोई अपना सर्वश्रेष्ठ करियर बनाना चाहता है। 12 वीं के बाद कई क्षेत्रों और courses में छात्र करियर चुनने के लिए भ्रमित हो जाते है। उचित मार्गदर्शन के बिना, वह एक खराब करियर कोर्स चुन सकता है और अपना करियर खो सकता है। इसलिए पूर्ण जानकारी के साथ और करियर सम्भावनाये जानने के बाद कोई भी कोर्स को चुने।

What Is ITI Electrician In Hindi

ITI इलेक्ट्रीशियन सर्वोत्तम लघु अवधि व्यावसायिक पाठ्यक्रम (course) है। इलेक्ट्रीशियन के रूप में करियर बनाने के लिए यह कोर्स सबसे अच्छा औद्योगिक कोर्स है।

Course NameITI Electrician
Duration (अवधी)2 साल
Eligibility (योग्यता)10th pass
Salary (वेतन)Starting 7000 to 10000 rupees
Job PositionsElectrician
Wireman
Electrical Machine operator
Welder
Supervisor
Technician

इस कोर्स के दौरान, छात्र बिजली के बारे में सीखते हैं। जिसमें छात्र तारों की स्थापना, बिजली उत्पादन, अर्थिंग, एसी करंट, डीसी करंट सीखते हैं। बिजली में पूर्ण कौशल प्राप्त करने के बाद, उम्मीदवार किसी भी अच्छी कंपनी में काम करने में सक्षम है। या वह अपना खुद का बिजली का व्यवसाय खोल सकता है।

कई आईटीआई संस्थान भारत के सभी राज्यों में स्थित हैं। वहां से आप इलेक्ट्रीशियन आईटीआई कोर्स कर सकते हैं। इस औद्योगिक पाठ्यक्रम को करने का सबसे अच्छा लाभ यह है कि बहुत कम शिक्षा की आवश्यकता होती है। यदि आपने अभी 10 वीं पास की है, तो आप आईटीआई इलेक्ट्रिशियन वोकेशनल कोर्स कर सकते हैं।

यह भी पढ़े

ITI इलेक्ट्रीशियन अभ्यास दरमियान क्या सीखते है

  • Basic Electricity (बेसिक इलेक्ट्रिसिटी )
  • Effect of electric current (करंट के प्रभाव )
  • Wiring installation (वायरिंग को कैसे स्थापित करे)
  • Magnetism
  • About batteries (बेट्टेरी के बारेमे)
  • Electrical machines (इलेक्ट्रिक साधनो के बारेमे)
  • transmission and distribution.
  • About AC current and DC current (AC करंट और DC करंट के बारेमे)

ELigibility (योग्यता)

आईटीआई इलेक्ट्रीशियन कोर्स आप १०थ पास या १२वी पास के बाद कर सकते है।

Age limit (आयु)

ITI electrician cour करने के लिए कमसे कम आयु 14 साल होनी चाहिए और ज्यादा से ज्यादा 40 साल तक आयु होनी चाहिए।

Syllabus

औद्योगिक कोर्स होने की वजह से इसमें दो प्रकार के सिलेबस आते है।

(1) Theory Trade,
(2) Practical trade.

Theory Trade Subjects

  • Safety and First Aid
  • Basic Hand And Trade tools
  • Fundamentals of electricity
  • Solders, flux, soldering techniques and resistors
  • Conductors, wires, cables and voltage grades
  • Basic Electricity (Law Of Ohm, Law of Kirchhoff)
  • Electrical Accessories
  • Chemical effects of electrical current
  • Batteries and Cells
  • Sawing and Drilling
  • Magnetism
  • Resistance
  • Domestic electrical appliances
  • DC Machines and Motors
  • Electric Wiring
  • Wiring systems
  • Earthing
  • AC Current
  • Transformers
  • Alternator
  • Measuring electricity (units and instruments)
  • Light and lighting techniques
  • Converter-inverter
  • Digital Electronics

Practicle Trade Subjects

  • Introduction of first aid and artificial respiration
  • Trade tools demonstration
  • Practical of using tools like Grinder, cutters, pliers, and conductors
  • Practical on soldering
  • Identification of wires
  • Practice of using a standard wire gauge
  • Verification of Ohm’s law
  • Verification of Kirchhoff’s law
  • Installing and overhauling common electrical accessories
  • Fixing switches, boards, etc
  • Assembly of Dry Cell
  • Care and maintenance of Batteries
  • Charging of lead-acid cell
  • Fitting Trade
  • Drilling Trade
  • Demonstration on CRO
  • Identification of different types of capacitors
  • The practical of assembling and dismantling a DC machine
  • Practical in capping and casing
  • Practical on the installation of the earthing system
  • Practical on installation and maintenance of alternators
  • Practical on the installation of a lighting system
  • Practical on a winding of transformers
  • Testing, running and reversing of universal motor
  • The practical of wiring on an electric motor, control panel
  • Installation and fault finding practice

करियर स्कोप

इस आईटीआई कोर्स को पूरा करने के बाद आप निजी और सरकारी दोनों क्षेत्रों में अपना सर्वश्रेष्ठ करियर बना सकते हैं। आप अपना खुद का व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं।

  • आप राज्य में बिजली बोर्ड में काम कर सकते हैं।
  • आप निजी उद्योगों में भी काम कर सकते हैं
  • आप अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। और बिजली की जनता को सेवा प्रदान कर सकता है
  • उम्मीदवार बिजली उत्पादन में भी काम कर सकते हैं

Salary (वेतन)

  • ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स के बाद, आप शुरुआत में 7 से 10 हजार तक वेतन प्राप्त कर सकते हैं। बहुत अनुभव के बाद, वेतन भी बढ़ता है।

क्या काम करना है?

आईटीआई इलेक्ट्रीशियन जॉब प्रोफाइल दो प्रकार के होते हैं। दोनों जॉब प्रोफाइल के अलग-अलग काम हैं।

  • जनरल इलेक्ट्रीशियन
  • फिटर इलेक्ट्रीशियन

सामान्य (जनरल) इलेक्ट्रीशियन नौकरी प्रोफाइल

  • कारखानों, पावरहाउस, कंपनियों जैसे व्यावसायिक क्षेत्रों में बिजली के उपकरण की मरम्मत, ।
  • रिपेयरिंग पंप, मोटर।
  • सही जगह पर ट्रांसफार्मर, स्विचगियर स्थापित करें।
  • जले या कटे तार की मरम्मत या नया तार लगाना।

फिटर इलेक्ट्रिशियन जॉब प्रोफाइल

  • बिजली के उपकरण जैसे बल्ब, पंखे, स्विच, मोटर, ट्रांसफार्मर आदि को फिट करना।
  • इन्सुलेटर को जहां आवश्यक हो वहा स्थापित करना
  • वायर को स्थापित करना, कट तार को बदलना।
  • असेंबली लाइन में एमीटर, वोल्टमीटर जैसे उपकरणों का उपयोग करके अर्थिंग, शॉर्ट सर्किट आदि की जांच करना

जॉब पोज़िशन

  • बिजली man
  • वायरमैन
  • वेल्डर
  • इलेक्ट्रिकल मशीन ऑपरेटर
  • तकनीशियन
  • प्रशिक्षक
  • पर्यवेक्षक (अनुभव प्राप्त करने के बाद)

निष्कर्ष

दोस्तों, इस लेख में मैंने ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स के बारे में पूरी जानकारी दी, ITI electrician course kya hai और अन्य जानकारिया । अगर आपकी भी बिजली में रुचि है तो यह कोर्स आपके लिए सबसे अच्छा है। इलेक्ट्रीशियन कोर्स पूरा करने के बाद उम्मीदवार खुद का व्यवसाय शुरू कर सकता है। इसके अलावा सरकारी और निजी क्षेत्रों में नौकरी पाने के कई मौके हैं।

यह भी जरुर पढे

Similar Posts

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments