भाषा के कितने रूप होते हैं भाषा के भेद की जानकारी

बिना पढ़े सुनिये

Bhasha Ke Kitne Roop Hote Hain

Bhasha ke kitne roop hote hain : आज आप इस आर्टिकल के माध्यम से भाषा के कितने रूप होते हैं, यह जानने वाले है। भाषा के रूप के बारेमे सब ने अलग अलग धारणाये और अलग अलग रूप बताये है। लेकिन हम यहां भाषा के मुख्य प्रकार के बारेमे जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।

Bhasha ke kitne roop hote hain
Bhasha Ke Kitne Roop Hote Hain

मनुष्य अपनी आंतरिक अभिव्यक्ति को लिखकर या बोलकर किसी सांकेतिक तरीके से व्यक्त करता हैं उसे भाषा कहते हैं।

भाषा के कितने रूप होते हैं

भाषा के रूप, भाषा के भेद और भाषा के प्रकार तीनो एक है। यहां पे हम भाषा के मुख्य रूपों के बारेमे जानने वाले हैं।

भाषा के मुख्य तीन रूप होते हैं

  • मौखित भाषा
  • लिखित भाषा, और
  • सांकेतिक भाषा

मौखिक भाषा

मनुष्य अपने दिमाग, मन से उत्पन्न हुई अभिव्यक्ति अपनी बातो को किसी दूसरे मनुष्य से बोलकर व्यक्त करते हैं उसे मौखिक भाषा कहते हैं।

मतलब की आप किसी को अपने मन की बात को किसी से बोलकर व्यक्त कर रहे हैं तो यह मौखिक भाषा का ही एक प्रकार है।

किसी नेता का भाषण, मोबाइल के द्वारा किसीसे बात करते हैं, स्कूल में शिक्षक हमे बोलकर कुछ समजा रहा है तो यह सब मौखिक भाषा के उदाहरण हैं।

यह भी पढ़िए

भारत के सबसे अच्छे कॉलेज

लिखित भाषा

कोई भी व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति से अपने मन की अभिवक्ति, विचारो और भावनाओ को लिखकर व्यक्त करते है उसे लिखित भाषा कहा जाता है।

में यहाँ पे में आपको भाषा के रूप को लिखित भाषा में समजा रहा हु। जो सबसे बेस्ट उदाहरण हैं।

पुराने समय में लोग एक दूसरे तक अपनी बात को पहुँचाने के लिए पत्र व्यव्हार करते थे। समाचार पत्र यह सब लिखित भाषा के सबसे बेस्ट उदहारण हैं।

सांकेतिक भाषा

कोई व्यक्ति अन्य व्यक्ति से अपने मन की अभिव्यक्ति या अपने मन की कोई बात संकेतो द्वारा व्यक्त करते तो उसे सांकेतिक भाषा कहते हैं।

इस भाषा में इशारो के द्वारा सामने वाले व्यक्ति को समझाने की कोशिश की जाती है। ज्यादातर ऐसे लोग जो बोल नहीं सकते लेकिन सब समज सकते है वो लोग किसी दूसरे व्यक्ति को समझाने के लिए सांकेतिक भाषा का उपयोग करते हैं।

कई बार किसी को बिना बोले, छुपके से समझाने के लिए भी हम सांकेतिक भाषा का उपयोग करते है।

सारांश

भाषा के तीनो मुख्य प्रकारो के बारेमे इस पोस्ट के माध्यम से समझाया गया हैं। तो Bhasha Ke Kitne Roop Hote Hain यह आप अच्छे से समज गए होंगे। व्याकरण के बहुत सारे पॉइंट है उसमे से भाषा भी एक हैं। इस वेबसाइट में आपको इससे आलावा भी व्याकरण की जानकारी मिल जायगी।

यह भी पढ़िए।

Moksh Prajapati
I am founder of adviserbird.com I like to share best informative articles with people