Aaj Ka Choghadiya आज का शुभ चौघड़िया देखें

Aaj Ka Choghadiya

Aaj ka choghadiya / Choghadiya / Subh choghadiya / 4 october 2021

समय को आज तक कोई पहचान नहीं पाया है। और हिन्दू धर्म के बड़े वैज्ञानिक यानि हमारे ऋषिमुनिओने इस समय के चक्र पर खोज की है। ऋषिमुनिओने ने दिन के कुछ सही समय को चुना है ताकि होने वाली हानीओ को टाला जा सके।

Aaj ka choghadiya
Aaj Ka Choghadiya

बहुत बार हम घर से जल्दी में निकल जाते है। और कुछ अनहोनी होने के बाद हम सोचते है की यह क्या हो गया, काश में थोड़ी देर बाद निकलता तो यह नहीं होता। तो इस तरह की कुछ अनहोनी को टालने के लिए चौघड़िया Choghadiya की रचना की गई। दिन के और रात के सही और बुरे समय की पहचान की गई।

चौघड़िया सात दिन में हर दिन और रात का चौघड़िया अलग होता है। मतलब को सोमवार का अलग बुधवार का अलग ऐसे।

चौघड़िया को तारीख से कोई लेना देना नहीं है। चौघड़िया के मुहर्त हर सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार को एक ही रहते है। मतलब की आज सोमवार को जो मुहर्त है वही मुहर्त अगले सोमवार को भी होगा।

आज का चौघड़िया

4 October 2021 दिन का चौघड़िया

  • सूर्योदय का समय:  6:16 AM
  • सूर्यास्त का समय: 06:04 PM

4 October 2021 दिन का चौघड़िया

मुहूर्तसमय
अमृत06:15:21 AM – 07:43:50 AM
काल07:43:50 AM – 09:12:19 AM
शुभ09:12:19 AM – 10:40:48 AM
रोग10:40:48 AM – 12:09:17 PM
उद्वेग12:09:17 PM – 01:37:46 PM
चर01:37:46 PM – 03:06:15 PM
लाभ03:06:15 PM – 04:34:44 PM
अमृत04:34:44 PM – 06:03:13 PM

4 October 2021 रात का चौघड़िया

मुहूर्तसमय
चर06:03:13 PM – 07:34:44 PM
रोग07:34:44 PM – 09:06:15 PM
काल09:06:15 PM – 10:37:46 PM
लाभ10:37:46 PM – 12:09:17 AM
उद्वेग12:09:17 AM – 01:40:48 AM
शुभ01:40:48 AM – 03:12:19 AM
अमृत03:12:19 AM – 04:43:50 AM
चर04:43:50 AM – 06:15:21 AM

निचे दिए गए एवरेज समय के ऊपर चौघड़िया है। आज का परफेक्ट चौघड़िया ऊपर दिया गया है।

दिन का चौघड़िया

समय रवि सोम मंगल बुध गुरु शुक्रशनि
6:00 AM-7:30 AMउद्बेगअमृतरोगलाभशुभचरकाल
7:30 AM-9:00 AMचरकालउद्बेगअमृतरोगलाभशुभ
9:00 AM-10:30 AMलाभशुभचरकालउद्बेगअमृतरोग
10:30 AM-12:00 PMअमृतरोगलाभशुभचरकालउद्बेग
12:00 PM-1:30 PMकालउद्बेगअमृतरोगलाभशुभचर
1:30 PM-3:00 PMशुभचरकालउद्बेगअमृतरोगलाभ
3:00 PM-4:30 PMरोगलाभशुभचरकालउद्बेगअमृत
4:30 PM-6:00 PMउद्बेगअमृतरोगलाभशुभचरकाल
aaj ka choghadiya

रात्रि का चौघड़िया

मयरविसोममंगलबुधगुरुशुक्रशनि
6:00 PM-7:30 PMशुभचरकालउद्बेगअमृतरोगलाभ
7:30 PM-9:00 PMअमृतरोगलाभशुभचरकालउद्बेग
9:00 PM-10:30 PMचरकालउद्बेगअमृतरोगलाभशुभ
10:30 PM-12:00 AMरोगलाभशुभचरकालउद्बेगअमृत
12:00 AM-1:30 AMकालउद्बेगअमृतरोगलाभशुभचर
1:30 AM-3:00 AMलाभशुभचरकालउद्बेगअमृतरोग
3:00 AM-4:30 AMउद्बेगअमृतरोगलाभशुभचरकाल
4:30 AM-6:00 AMशुभचरकालउद्बेगअमृतरोगलाभ
aaj ka choghadiya

चौघड़िया की गणना कैसे होती है

चौघड़िया की गणना में दिन और शाम की अलग अलग होती है। दिन का चौघड़िया और रात का चौघड़िया अलग होता है। कोई भी चौघड़िया डेड घंटे का होता है। अगर अभी शुभ चौघड़िया की शुरुआत हुई है तो यह चौघड़िया डेड घंटे तक रहेगा। डेड घंटे के बाद बदल जायगा। जो आप ऊपर दिए गए चौघड़िए के टेबल से जान सकते है।

चौघड़िया के सभी मुहर्त के बारेमे

  • उद्वेग
  • लाभ
  • चर (चल)
  • रोग
  • शुभ
  • काल
  • अमृत

उद्वेग

इस मुहर्त का स्वामी सूर्य माना जाता है। यह मुहरत प्रशासनिक कार्य करने के परिणाम मिलने के कम आसार है। मतलब की उचित काम करने का सही मुहर्त नहीं है।

लाभ

दूसरे स्थान का मुहर्त लाभ है इस मुहर्त का स्वामी बुध गृह है। व्यवसायिक कार्य करने और उसके लाभदायी फल प्राप्त करने के लिए इस मुहर्त को उचित माना जाता है।

चर

तीसरे स्थान के इस मुहर्त का स्वामी शुक्र ग्रह माना जाता है। चर को चल भी कहा जाता है। इस मुहर्त को यात्रा करने के लिए उचित माना गया है।

रोग

चौथे स्थान के इस मुहर्त का स्वामी मंगल ग्रह माना गया है। माना जाता है इस मुहर्त में चिकित्षा के सबंधित सलाह नहीं लेनी चाहिए।

शुभ

पांचवे स्थान के इस मुहर्त का स्वामी बुध यानि बृहस्पति ग्रह को माना जाता है। कोई भी शुभ कार्य करने के लिए इस मुहर्त को योग्य माना जाता है। जैसे की विवाह, पूजा वगेरा

काल

इस मुहर्त का स्वामी शनि ग्रह माना जाता है। कोई भी कार्य इस मुहर्त में नहीं करना चाहिए।

अमृत

सबसे लास्ट मुहर्त अमृत का स्वामी चंद्र को माना गया है। यह अंतिम मुहर्त है। कोई भी शुभ कार्य करने के लिए अच्छे परिणाम पाने के लिए चौघड़िया के इस अमृत मुहर्त में काम करना चाहिए।

चौघड़िया Choghadiya के उपयोग

  • चौघड़िया का उपयोग भारत के पश्चिमी क्षेत्रो में ज्यादा किया जाता है
  • चौघड़िया के मुहर्त के अनुसार कार्य करने बहुत फायदेमंद होते है ऐसा माना जाता है।
  • बुजुर्गो की बाते माने तो उन्होंने प्रैक्टिकल कर के भी साबित किये हुए है। लेकिन आज की पीढ़ी इस बात पे ज्यादा विश्वास नहीं रखती है। लेकिन सदियों से चला आ रहा ज्योतिष जूठा नहीं हो सकता।
  • चौघड़िया का उपयोग बिना ज्योतिष के पास गए घर बैठे मुहर्त देख सकते है।
  • प्रवास, शादी, नए व्यवसाय का आरम्भ, बड़ी यात्रा जैसे कार्यो की शुरुआत से पहले मुहर्त देखा जाता है।

Choghadiya के इस पेज को बुकमार्क कर ले या अपने मोबाइल या लैपटॉप के होमस्क्रीन पर सेट कर ले ताकि आपको कभी भी Aaj ka choghadiya देखना हो तो आसानी से देख सके।

धन्यवाद

यह भी पढ़े

Similar Posts

One Comment

  1. itna mast kaise likhte ho..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *